विशाल जनसंख्या के देश भारत की स्वदेशी भाषाओं में हिंदी एक प्रमुख, वैज्ञानिक एवं प्राचीन भाषा है। इण्टरनेट एवं वेबसाइट्स पर हिंदी लिपि को प्रदर्शित किये जाने व लिखने की तकनीक समय के साथ निरन्तर उन्नत होती गई है। वैश्चिक पैमाने पर यूनीकोड विधा से हिंदी लिखना और प्रदर्शित किया जाना सर्वश्रेष्ठ है। यूनीकोड आधारित वेबपृष्ठों का विश्व की अनेक भाषाओं में स्वतः ही पारस्परिक अनुवाद आदि पर शोध कार्य प्रगति पर है। इण्टरनेट व वेबसाइट्स पर हिंदी लिपि लिखने के लिए अधिकांशतः फोनेटिक तकनीक उपयोग में लाई जा रही है। फोनेटिक तकनीक में हिंदी शब्द लिखे जाने हेतु अंग्रेजी वर्णमाला के अक्षरों को ध्वनात्मक क्रम में लिखा जाता है। हमें यह विवशता होती है कि अपने देश की भाषा लिखने के लिए भी हम विदेशी भाषा का प्रयोग करें। खेदजनक है कि अद्यतन समय तक हमारे भारतीय बाजारों में भारतीय भाषाओं के कम्प्यूटर की–बोर्ड भी उपलब्ध नहीं है जबकि चाइनीज और जापानी लोग अपनी भाषा के प्रति आस्था और समर्पण की भावना रखते है और उनके पास उनकी भाषाओं के कम्प्यूटर की–बोर्ड भी उपलब्ध है। आप इण्टरनेट पर प्रदर्शित हिंदी सामग्री को देख कर अनुभव कर सकेगें कि भाषा के स्तर पर कितनी अशुद्धता फैली–पसरी है। अपनी भाषा लिखने के लिए भी विदेशी लिपि उपयोग करने की विवशता तो अत्यंत लाचारी का द्योतक है। ऐसी स्थितियों में हमें हमारे भारतीयता के अहसास ने विवश किया है कि हम इस स्थिति को सिर्फ कोसने के बजाय परिवर्तित करने की दिशा में सार्थक प्रयास करें। ऐसे ही प्रयासों से संरचना हिंदी यूनीकोड टाइपिंग टूल विकसित हुआ है जो नवीनतम लिपि यूनीकोड समर्थित है तथा रेमिंग्टन ले–आउट (टाइपराइटर) के अनुसार हिंदी टंकण की सुविधा एम०एस०वर्ड, एक्सेल, पॉवर–प्वाइंट, ई–मेल क्लांइट्स व ब्राउजर्स आदि पर प्रदान करता है। रोक्त प्रयासों को गतिमान करनें में आप हमारे सहायक बनेगें तथा भारतीय भाषाओं के गौरव को भारतवर्ष में तिरस्कृत न होने देने में आपका सहयोग और सुझाव अवश्य ही हमें प्राप्त होगें। कृपया अपने कम्प्यूटर पर स्थापित ऑपरेटिंग–सिस्टम के अनुसार टाइपिंग–टूल के संस्करण को डाउनलोड कर उपयोग में लाना प्रारम्भ करें, यह पूर्णतः निशुल्क है। आपसे यह निवेदन भी है कि संरचना टाइपिंग टूल का उपयोग करने पर यदि आपको विसंगति या त्रुटि दृष्टिगोचर होती है तो कृपया हमें अवगत कराने में किसी प्रकार का संकोच न करें। आपके सुझाव हमारे लिए अत्यन्त महत्वपूर्ण है।

       हमें यह अपेक्षा है कि हमारे उपरोक्त प्रयासों को गतिमान करनें में आप हमारे सहायक बनेगें तथा भारतीय भाषाओं के गौरव को भारतवर्ष में तिरस्कृत न होने देने में आपका सहयोग और सुझाव अवश्य ही हमें प्राप्त होगें। कृपया अपने कम्प्यूटर पर स्थापित ऑपरेटिंग–सिस्टम के अनुसार टाइपिंग–टूल के संस्करण को डाउनलोड कर उपयोग में लाना प्रारम्भ करें, यह पूर्णतः निशुल्क है। आपसे यह निवेदन भी है कि संरचना टाइपिंग टूल का उपयोग करने पर यदि आपको विसंगति या त्रुटि दृष्टिगोचर होती है तो कृपया हमें अवगत कराने में किसी प्रकार का संकोच न करें। आपके सुझाव हमारे लिए अत्यन्त महत्वपूर्ण है।

सादर

टीम–संरचना


 
आगंतुक काउंटर: 094265